रमीज राजा ने पहले दिखाया एक्‍शन…फ‍िर मांगी हर महीने 1.5 लाख रुपये पेंशन, पीसीबी ने कर दिया…

Posted on

हाइलाइट्स

रमीज राजा ने पद से हटने के बाद पीसीबी पर लगाए थे कई आरोप
बोर्ड ने पूर्व चेयरमैन को दी थी कानूनी कार्रवाई करने की धमकी

नई दिल्‍ली. पाकिस्‍तान में बीते कई दिनों से क्रिकेट के मैदान के बाहर भी ‘खेल’ चल रहा है. पीसीबी में बदलाव के बाद रमीज राजा और नजम सेठी की बीच जोरदार उठापटक हुई. पूर्व चेयरमैन ने आरोपों के तीर छोड़े तो जवाब में बोर्ड ने पूरा तरकश ही खाली कर दिया. इस बीच, तेज गेंदबाज मोहम्‍मद आमिर और वहाब रियाज ने ‘बाउंसर’ की ऐसी झड़ी लगाई कि रमीज के लिए ‘डक’ करना मुश्किल हो गया. हालात को भांपते हुए उन्‍होंने खामोशी अख्तियार करना ही बेहतर समझा. सरेंडर की मुद्रा में आए रमीज ने अब पीसीबी से एक गुजारिश की थी जिसे नजम सेठी ने मंजूर कर लिया है.

रमीज राजा ने पूर्व चेयरमैन होने के नाते पीसीबी से डेढ़ लाख रुपये पेंशन की मांग की थी. जियो न्‍यूज के मुताबिक, नजम सेठी ने इस दरखास्‍त को मंजूर करते हुए उन्‍हें हर महीने यह रकम देने को मंजूरी दे दी है. पीसीबी की तरफ से रमीज को कमेंट्री का ऑफर भी दिया जा चुका है. बोर्ड ने कहा था कि अगर वह चाहें तो ऐसा कर सकते हैं, हमें इस न तो ऐतराज है और न ही हम कोई रोक लगाएंगे.

सूर्यकुमार यादव ने जड़ा ‘गुलाटी सिक्स’, फैंस ने दांतों तले दबाई उंगली, देखें वीडियो

” isDesktop=”true” id=”5189209″ >

सामान तक न ले जाने देने का लगाया था आरोप

पद से हटने के बाद रमीज ने लाहौर के गद्दाफी स्टेडियम स्थित पीसीबी मुख्यालय में एंट्री न मिलने और सामान ले जाने से रोकने का आरोप लगाया था. इस पर बोर्ड ने कहा था कि रमीज को स्‍टेडियम में आने से नहीं रोका गया और भविष्‍य में भी पीसीबी दफ्तर के दरवाजे उनके लिए खुले रहेंगे. उनका सामान भी लौटा दिया गया है. रमीज फ‍िर भी नहीं थमे और खुद को हटाए जाने के तरीके समेत कई और आरोप बोर्ड पर जड़ दिए. इसके बाद बोर्ड ने एक बयान जारी कर कहा,  रमीज राजा न सिर्फ नजम सेठी बल्कि पीसीबी की छवि को भी चोट पहुंचा रहे हैं. बोर्ड ने उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की धमकी भी दी थी. बता दें कि रमीज ने चेयरमैन रहते हुए पीसीबी की तिजोरी से रकम अदा कर 1.65 करोड़ की बुलेट प्रूफ कार खरीदी थी. रमीज का कहना है कि उन्‍हें जान से मारने की धमकी मिली थीं.

Tags: Pakistan cricket, Pcb, Ramiz Raja

Leave a Reply