पुराने लैपटॉप में भी 5G Speed से चला सकते हैं इंटरनेट, अभी ही कर लें ये छोटा सा काम

Posted on

हाइलाइट्स

पुराने लैपटॉप में 5G की स्पीड पानी के लिए इसे लेटेस्ट विंडो वर्जन पर अपडेट करें.
क्रोम ब्राउजर में जल्दी टैब रीलोड होने पर cache डेटा और हिस्ट्री को डिलीट करें.
इसके अलावा बार-बार हैंग होने पर इसे रीसेट कर लैपटॉप की स्पीड बढ़ा सकते हैं.

नई दिल्ली: देश में 5G लॉन्च होने के बाद से ही लोग इसे इस्तेमाल कर रहे हैं. फिलहाल इसकी पहुंच कुछ ही राज्यों तक सीमित है. टेलीकॉम कंपनी इसे धीरे-धीरे अलग-अलग राज्यों के लिए रोल आउट कर रही हैं. स्माटफोन यूजर्स बहुत ही आसानी से इसे इस्तेमाल कर पा रहे हैं. लैपटॉप या पीसी में इंटरनेट चलाने वाले यूजर्स को कई बार स्पीड को लेकर शिकायत रहती है. क्या आपके साथ भी इस तरह की समस्या है? लैपटॉप में एक सेटिंग करके इसकी स्पीड को बढ़ाया जा सकता है.

5जी इस्तेमाल करने के लिए कुछ लोग स्मार्टफोन में हॉटस्पॉट ऑन करके इसे लैपटॉप से कनेक्ट करते हैं. इसके बावजूद भी कुछ पुराने लैपटॉप में सही स्पीड नहीं मिल पाती है.

यह भी पढ़ें: सिर्फ 4999 में मिल रहा है 32 इंच का ब्रांडेड स्मार्ट टीवी, डिस्काउंट और फीचर्स देखकर तुरंत कर देंगे ऑर्डर

क्रोम ब्राउजर में करें ये सेटिंग
क्रोम ब्राउजर में एक से ज़्यादा टैब पर काम करते समय कई बार लोगों को वापस इसके ऊपर क्लिक करने के बाद रीलोड होते समय परेशान हो जाती है. लेकिन हर बार अलग-अलग टैब रीलोड होने की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं. इसके लिए क्रोम ब्राउजर की सेटिंग के ऊपर क्लिक करके हिस्ट्री और ब्राउजिंग डेटा को डिलीट कर दें. इसके बाद पहले से मौजूद सभी बुकमार्क लैपटॉप से रिमूव कर इसकी स्पीड बढ़ा सकते हैं.

5G की स्पीड से पेज लोड करने के लिए करें ये काम
अगर अलग-अलग ब्राउजर पर इंटरनेट चलाते समय सही स्पीड न मिले तो इसे रीसेट कर सकते हैं. कुछ पुराने लैपटॉप को इंटरनेट से कनेक्ट करने के बाद ही इसकी स्पीड कम हो जाती है. इसे हैंग होने की समस्या आम बात है. इससे बचने के लिए सबसे पहले लैपटॉप में मौजूद डेटा को क्लाउड स्टोरेज या फिर हार्ड डिस्क में ट्रांसफर कर लें. इसके बाद इसे रिसेट कर दोबारा से इस्तेमाल करें. इस तरह आपको ज्यादा स्पीड मिलने लगेगी.

यह भी पढ़ें: बिजनेस स्मार्टफोन: लेनेवो के Thinkphone में मिलेगा कौन सा प्रोसेसर? क्या है सबसे बड़ी खूबी?

Window को करें अपडेट
लैपटॉप को लेटेस्ट विंडोज वर्जन पर अपडेट नहीं होने पर भी कई बार इसकी स्पीड में कमी आती है. समय के साथ ही नए-नए अपडेट्स आने के बाद नियमित रूप से इसे अपडेट करते रहें. कुछ लोग एक से अधिक बार विंडो अपडेट आने पर इसे हमेशा के लिए ऑफ कर देते हैं. इसी वजह से उन्हें इसे आने के बाद भी जानकारी नहीं मिलती है. आप इस सेटिंग को ऑन कर ऑटो अपडेट पर क्लिक कर दें. इससे डाटा की भी सुरक्षा बनी रहती है.

Tags: 5g, Mobile, Tech news, Tech news hindi, Tech Tricks, Technology

Leave a Reply